डेली न्यूज ने बना दिया सचिन को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष

जयपुर। यूं तो राजस्थान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी हैं, लेकिन विश्वसनीयता का दावा ठोकने वाले राजस्थान पत्रिका के ही समाचार-पत्र डेली न्यूज की मानें तो राजस्थान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट हैं। इस खबर को पढ़कर हर कोई हैरान हो गया। लोगों ने सोचा शायद सचिन पायलट ने खेमा बदल लिया हो और भाजपा ने उन्हें रातों-रात प्रदेशाध्यक्ष बना दिया हो। लेकिन, हकीकत में ऐसा नहीं था। असलियत यह है कि डेली न्यूज में आंख बंद कर खबरें चलाई जा रही हैं। जिस अखबार में सम्पादक उस व्यक्ति को बना दिया गया हो, जिसने अपने अभी तक के पत्रकारिता कॅरियर में ना तो रिपोर्टिंग की हो और ना ही डेस्क का कार्य। तो उस अखबार में इस तरह की खबरें प्रकाशित हो जाएं तो कोई अचरज नहीं होता।

कई सम्पादक ऐसे...ना लीपने के ना पोतने के

राजस्थान पत्रिका में इस तरह के कई सम्पादक हैं, जो बिल्ली के गू हैं। बिल्ली के गू यानी ना लीपने के और ना पोतने के। जब इस तरह के लोग चमचागिरी करके सम्पादक बन जाते हैं, तो उनसे अच्छे की उम्मीद करना बेमानी है। इस तरह के कई सम्पादक हैं, जिनका कार्य सिर्फ अधिकारियों की चमचागिरी करना है। इस तरह ये लोग कुछ नहीं जानकर भी सम्पादक बन जाते हैं और जो लोग चमचागिरी नहीं करते हैं, वे सब कुछ जानकर भी सम्पादक नहीं बन पाते हैं। बाद में इन सम्पादकों के कारनामों को पाठक भुगतते हैं या फिर समाचार-पत्र प्रबंधन।

तो पाठक कर देंगे बाय-बाय

वैसे भी डेली न्यूज के दो-चार हजार ही ग्राहक हैं। यदि समाचार-पत्र में इस तरह की खबरें प्रकाशित होती रहीं तो ये दो-चार हजार ग्राहक भी इसे बाय-बाय कहते देर नहीं करेंगे। अब देखने वाली बात यह है कि प्रबंधन समाचार-पत्र के इस गिरते स्तर को सुधारते हैं या फिर सम्पादक महोदय को ही बदल देते हैं।