राजस्थान पत्रिका 25 फीसदी कर्मचारियों को करेगा बाहर, बाकी से लेगा 10 घंटे काम

जयपुर। जयपुर स्थित राजस्थान पत्रिका के ऑफिस में चर्चा है कि प्रबंधन अब 25 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करने वाला है। इनमें सबसे ज्यादा गाज मशीन विभाग में कार्यरत कर्मचारियों पर गिरेगी। चर्चा है कि मशीन विभाग में कार्यरत उम्रदराज कर्मचारियों का दूर तबादला किया जाएगा, जिससे वे खुद ही छोड़कर चले जाएं। कम वेतन वाले कर्मचारियों को ही मशीन विभाग में रखा जाएगा। इसके बाद वितरण, मार्केटिंग और सम्पादकीय विभाग में से भी उम्रदराज कर्मचारियों को किसी ना किसी तरह से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। पत्रिका प्रबंधन की नजर में ऐसे कर्मचारी अधिक कार्य भी नहीं कर पाते हैं और वेतन भी उन्हें ज्यादा मिल रहा है। ये कर्मचारी मजीठिया के हिसाब से वेतन पाने के भी हकदार हैं। ऐसे में इनसे किसी ना किसी तरह पीछा छुड़ाने की जुगत लगाई जा रही है। साथ ही यह भी चर्चा चल रही है कि इसके बाद बचे हुए कर्मचारियों से पत्रिका प्रबंधन 10 घंटे काम कराएगा। पत्रिका प्रबंधन गुपचुप तरीके से इस निर्णय को लागू करेगा। पत्रिका प्रबंधन को पता है कि जो कर्मचारी मजीठिया मामले में सुप्रीम कोर्ट नहीं गया है, वह उनके इस फैसले के खिलाफ भी आवाज नहीं उठाएगा। कर्मचारियों की इसी कमजोरी का फायदा उठाकर पत्रिका प्रबंधन अपने मनमाने फैसले लागू करेगा।