दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण, अमर उजाला और राजस्थान पत्रिका प्रबंधन कर्मचारियों से कोर्ट में करा रहा समझौता

जयपुर। सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मजीठिया मामले में जैसे-जैसे फैसले की घड़ी नजदीक आ रही है। वैसे ही दैनिक भास्कर, राजस्थान पत्रिका, दैनिक जागरण, अमर उजाला सहित तमाम अखबार मालिकानों की सांसें फूल रही हैं। तमाम प्रलोभन देने के बाद भी सिर्फ कुछ को छोड़कर सारे कर्मचारी अपने फैसले पर अडिग हैं और अखबार मालिकों से समझौता नहीं रहे हैं। वहीं अखबार मालिकानों की नीयत सभी को भी मजीठिया देने की नहीं है। जो कर्मचारी सुप्रीम कोर्ट में नहीं गए हैं, उनकी ओर से तो मालिक बेफ्रिक हैं। लेकिन जिन कर्मचारियों ने कोर्ट में जाने के बाद इनसे समझौता कर लिया है, वे उनसे ज्यादा आशंकित हैं। इन्हें डर है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहीं ये समझौता करने वाले कर्मचारी वापस से सुप्रीम कोर्ट नहीं चले जाएं। इसलिए जिन कर्मचारियों ने समझौता कर लिया है, उन्हें लेकर अखबार मालिकान दिल्ली गए हैं। वहां पर कानूनी कार्यवाही के तहत गवाहों के सामने उनसे समझौता पत्र पर हस्ताक्षर करवा रहे हैं, जिससे वे बाद में उनके लिए सिरदर्द नहीं बनने पाएं। राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, चंडीगढ़ और हरियाणा सहित तमाम जगहों से दैनिक भास्कर,राजस्थान पत्रिका, दैनिक जागरण और अमर उजाला सहित तमाम अखबार मालिकानों के गुर्गे ऐसे कर्मचारियों को लेकर दिल्ली गए हैं। वहां इनसे दोबारा से समझौता पत्र पर हस्ताक्षर करवा रहे हैं।