सैलेरी के चैक बाउंस, नेशनल दुनिया प्रबंधन पर 420  का केस लगाने की तैयारी में कर्मचारी

जयपुर। नेशनल दुनिया समाचार-पत्र के जयपुर स्थित कार्यालय पर ताले लग गए हैं और दो-तीन माह से प्रकाशन भी नहीं हो रहा है। नेशनल दुनिया प्रबंधन ने करीब एक माह पहले कर्मचारियों को ऑफिस नहीं आने को भी कह दिया था। उस समय सभी कर्मचारियों को पांच-छह माह की बकाया सैलेरी के भुगतान के लिए चैक भी दे दिया गया था। उससे कर्मचारियों में संतुष्टि थी कि चलो, सैलेरी तो मिल गई। लेकिन, जब भुगतान के लिए चैक नियत तिथि को बैंक में लगाए गए तो नेशनल दुनिया प्रबंधन के खाते में पैसे ही नहीं थे। इससे अधिकतर कर्मचारियों के चैक बाउंस हो गए।

सम्पादक के चेहेतों के हो रहे चैक क्लीयर
सूत्रों का कहना है कि जो दो-चार कर्मचारी सम्पादक के चहेते हैं, उनके ही चैक क्लीयर हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि नेशनल दुनिया प्रबंधन खाते में पैसे आने की बात सम्पादक को बताता। इस पर सम्पादक तुरन्त ही अपने चेहेतों को बता देता और वे चैक लगाकर पैसा उठा लेते।

धोखाधड़ी का कराएंगे मामला दर्ज
बाकी करीब 30 -40 कर्मचारी ऐसे हैं, जिनके चैक बाउंस हो गए। ये कर्मचारी पहले तो यह देख रहे थे कि प्रबंधन उनको बकाया सैलेरी दे देगा, लेकिन अब इन्हें इसकी उम्मीद दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही है। ऐसे में अब ये कर्मचारी नेशनल दुनिया प्रबंधन के खिलाफ चैक बाउंस मामले में 420 (धोखाधड़ी, जालसाजी) का केस लगाने जा रहे हैं।