पत्रिका में अब सर्कुलेशन का कार्य भी देखेंगे राकेश भण्डारी

जयपुर। राजस्थान पत्रिका मालिक रोज नए-नए फैसले ले रहे हैं, जिन्हें समझ पाना फिलहाल मुश्किल हो रहा है। लेकिन, इसके पीछे उनकी सोच क्या है, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। सूत्रों का कहना है कि बी. आर सिंह को डिजीटल और एफएम की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। उनसे सर्कुलेशन का कार्य ले लिया गया है। वे अब सर्कुलेशन का कार्य नहीं देखेंगे।
खास बात यह है कि सर्कुलेशन के व्यक्ति को डिजीटल और एफएम की जिम्मेदारी देना समझ से बाहर है। ऐसा करके पत्रिका प्रबंधन क्या चाहता है, यह तो वही अच्छी तरह से जानता है। सूत्रों का कहना है कि बीआर सिंह से सर्कुलेशन तो ठीक से संभल नहीं पा रहा था। दिन-प्रतिदिन समाचार-पत्र की कॉपियां कम हो रही थीं। हालांकि, आंकड़ों में हमेशा वह राजस्थान पत्रिका को बढ़ता दिखाता था, लेकिन असलियत इससे कोसो दूर थी। अपनी नाकामी छुपाने के लिए उसने सम्पादकीय विभाग के साथियों को भी निशाने पर लिया था और उनसे सर्कुलेशन बढ़ाने की बात कही थी। जो व्यक्ति सर्कुलेशन को नहीं संभाल सका, उससे डिजीटल और एफएम की दोहरी जिम्मेदारी निभाने की उम्मीद करना बेमानी होगा।
वहीं राकेश भण्डारी जो पहले प्रोडक्शन विभाग का कार्य देखते थे, वे अब इसके साथ ही सर्कुलेशन का कार्य भी देखेंगे। साथ ही कम्पनी में वाईस प्रिसिडेंट का पद मिलने के बाद भुवनेश जैन की जिम्मेदारी बढ़ा दी गई है, वे अब सर्कुलेशन में भी अपना सहयोग देंगे। वहीं एसपीएस गिल प्रशासन का कार्य देखेंगे।