मजीठिया केस की सजा, पत्रिका ने जूनियर डिजाइनर विजय को जगदलपुर भेजा

जयपुर। राजस्थान पत्रिका प्रबंधन ने जयपुर कार्यालय से एक और जूनियर डिजाइनर का तबादला कर दिया है। विजय शर्मा नाम के इस कर्मचारी को जगदलपुर भेजा गया है। इसका कसूर सिर्फ इतना है कि इसने मजीठिया के लिए सुप्रीम कोर्ट में केस किया हुआ है। सूत्रों का कहना है कि विजय शर्मा की गिनती अच्छे पेज मेकर्स में होती है। इसलिए प्रबंधन ने इनसे कई बार समझाइश भी की और केस वापस लेने का दबाव भी बनाया। लेकिन, विजय शर्मा ने प्रबंधन के आगे घुटने नहीं टेके और मजीठिया का हक लेने पर अड़े रहे। इस कारण आखिरकार पत्रिका प्रबंधन ने उनका तबादला जगदलपुर कर दिया है।

श्रम कोर्ट का अपमान

सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि पत्रिका प्रबंधन और कर्मचारियों का मजीठिया मामला सुप्रीम कोर्ट के साथ ही श्रम कोर्ट में भी चला गया है। ऐसे में यह कहा जा रहा था कि पत्रिका प्रबंधन बिना श्रम कोर्ट की अनुमति लिए अब किसी कर्मचारी का तबादला नहीं कर सकता है। इसके बावजूद तबादला होने से एक बात तो साबित हो रही है कि पत्रिका प्रबंधन श्रम कोर्ट को तवज्जों नहीं दे रहा है और मनमाने तरीके से कर्मचारियों को परेशान कर रहा है। यानी पत्रिका प्रबंधन खुलेआम श्रम कोर्ट की तौहीन कर रहा है।

अब जूनियर डिजाइनरों का नम्बर

पत्रिका अभी तक मजीठिया मामले में सुप्रीम कोर्ट गए सम्पादकीय विभाग के कर्मचारियों को ही तबादला और बर्खास्त कर परेशान कर रही थी। जूनियर डिजाइनरों में से अभी तक किसी का भी तबादला नहीं किया गया था। पहले यह चर्चा थी कि पत्रिका में जूनियर डिजाइनर वैसे भी गिने-चुने ही हैं और नए कर्मचारी मिल नहीं रहे थे। ऐसे में इनका तबादला करने से पत्रिका में परेशानी हो जाएगी। लेकिन, पत्रिका अखबार जब से दिल्ली से बनकर आने लगा है, जूनियर डिजाइनरों के पास काम ही नहीं रह गया है। ऐसे में पत्रिका प्रबंधन ने अब उनका भी दूर-दूर तबादला करना शुरू कर दिया है।