कॉस्ट कटिंग की गाज...कोयम्बटूर और हुवली संस्करण भी होंगे जल्द बन्द

जयपुर। आजकल राजस्थान पत्रिका कॉस्ट कटिंग के नाम पर कई चीजों में कटौती कर रहा है। जिन विभागों से उसे कमाई नहीं थी या जो कर्मचारी उसके लिए मुफीद नहीं दिख रहे थे। ऐसी सभी जगह उसने खर्चे कम करना शुरू कर दिया है। अब खबर है कि पत्रिका प्रबंधन लगातार घाटे में चल रहे अपने दो संस्करण कोयम्बटूर और हुवली पर भी कभी भी ताला लगा सकता है। इन दोनों संस्करणों की हालत आमदनी अठन्नी और खर्चा रूपैया जैसी है। काफी समय और मशक्कत के बाद भी ये दोनों संस्करण अपना पूरा खर्चा ही नहीं निकाल पा रहे हैं, ऐसे में इनसे कमाई की उम्मीद करना बेमानी होगा।

जल्द नौकरी ढूंढ लो

सूत्रों के मुताबिक अभी कुछ दिनों पहले एक बड़े अधिकारी इन दोनों संस्करणों के दौरे पर गए थे। उन्होंने वहां स्टाफ की मीटिंग ली और उनको दो टूक कह दिया कि आपके संस्करण को पत्रिका प्रबंधन को कोई कमाई नहीं हो रही है। इसलिए आप लोग जल्द ही दूसरी नौकरी ढूंढ लो। पत्रिका प्रबंधन बहुत जल्द ही इन दोनों संस्करणों को बन्द करने वाला है।

फोर्ट फोलियो कर्मचारियों पर गिरेगी गाज

सूत्रों के मुताबिक कोयम्बटूर ऑफिस में कुल मिलाकर करीब 15-16 कर्मचारी हैं। इनमें से करीब 10-11 फोर्ट फोलियो के कर्मचारी हैं। बाकी कर्मचारी राजस्थान पत्रिका के ही हैं। ये वे कर्मचारी हैं, जिनका पत्रिका प्रबंधन ने सजा के तौर पर इधर-उधर से तबादला यहां किया है। सूत्रों के मुताबिक फोर्ट फोलियो कर्मचारियों की नौकरी पर ही गाज गिरेगी। वैसे भी पत्रिका प्रबंधन ने फोर्ट फोलियो से कर्मचारी हटाने की शुरूआत कर दी है। वहीं हुवली में भी करीब पांच-सात जनों का स्टाफ है, वहां पर ज्यादातर फोर्ट फोलियो के ही कर्मचारी हैं। इसलिए दोनों संस्करणों को बन्द करने में पत्रिका प्रबंधन को अतिरिक्त श्रम की जरूरत नहीं पड़ेगी।

खबर का असर, सम्पादक लेने लगे साप्ताहिक अवकाश

अभी कुछ दिनों पहले मीडिया होल्स ने 'भतीजे संग 19 नवम्बर से लापता कोयम्बटूर पत्रिका सम्पादक!' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसमें बताया गया था कि कोयम्बटूर संस्करण सम्पादक बिना बताए ऑफिस नहीं आ रहे हैं और ऑफिस में ही कार्यरत भतीजे को भी लेकर गए हैं। इसमें यह भी बताया गया था कि वे रविवार को साप्ताहिक अवकाश के दिन भी ऑफिस आ जाते हैं। ऐसा करके वे अपने बहुत सारे ऑफ जमा कर लेते थे और एक साथ छुट्टी लेकर घर चले जाते थे। मीडिया होल्स में यह खबर प्रकाशित होते ही सम्पादक महोदय ने ऑफिस भी ज्वॉइन कर लिया और रविवार को साप्ताहिक अवकाश भी ले लिया। इससे बाकी कर्मचारी बड़े खुश हैं। हालांकि, उनके भतीजे और पत्रिका में बतौर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तैनात भाईसाहब अभी छुट्टी से लौटे नहीं हैं। संभावना यह जताई जा रही है कि वे फोर्ट फोलियो में तैनात हैं और उनको 30 दिसम्बर तक सेवा वाला नोटिस मिल गया है।