फोर्ट फोलियो के कर्मचारियों को सलाम, पत्रिका प्रबंधन का कर लिया स्टिंग

जयपुर। राजस्थान पत्रिका प्रबंधन ने फोर्ट फोलियो में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को जबसे नोटिस दिया है, तब से ज्यादातर कर्मचारी परेशान हैं। वहीं इनमें कुछ ऐेसे कर्मचारी भी हैं, जिन्होंने अक्लमंदी का परिचय देते हुए पत्रिका प्रबंधन को मात देने की पूरी तैयारी कर ली है। पत्रिका प्रबंधन ने राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में फोर्ट फोलियो में तैनात सभी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को नोटिस दिया है।

उस दिन का समाचार-पत्र लगा किए हस्ताक्षर

पहले अक्लमंद कर्मचारियों की बात करते हैं। इन अक्लमंद चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने मीडिया होल्स को बताया कि जब उन्हें पता चला कि पत्रिका प्रबंधन पुरानी डेट में नोटिस देकर अभी की तारीख में हस्ताक्षर करवा रहा है तो वे पहले तो घबरा गए। उनके कई साथी इस तरह से नोटिस लेकर आ भी गए थे। लेकिन, इसी दौरान कई कर्मचारियों का दिमाग चला, उन्होंने यह नोटिस लेकर जब हस्ताक्षर किए तो उस दिन की तारीख वाले समाचार-पत्र को नोटिस के नीचे रख लिया और हस्ताक्षर करते हुए की फोटो खींच ली और वीडियो बना लिया। इस तरह की होशियारी कई संस्करणों में कर्मचारियों ने दिखाई है। इनका कहना है कि अभी तो हमने मजबूरी में हस्ताक्षर कर दिए हैं। यदि पत्रिका ने हमको वाकई निकाल दिया तो हम कानूनी रूप से यह साबित कर सकेंगे कि हमसे यह हस्ताक्षर अभी करवाए गए हैं।

खींच लिए फोटो और बना ली वीडियो

साथ ही इन कर्मचारियों ने उस दिन के बाद अपनी ड्यूटी वाली जगह की फोटो खींचना भी शुरू कर दिया। इन कर्मचारियों की जिस अधिकारी के पास ड्यूटी लगती, वहां की फोटो इन्होंने चुपचाप खींच ली। जिससे समय आने पर यह साबित किया जा सके कि फोर्ट फोलियो का अलग से कोई ऑफिस नहीं है। यह राजस्थान पत्रिका प्रबंधन की ही कम्पनी है। इन साथियों को कोई परेशानी ना हो, इसलिए इनकी पहचान गुप्त रखी जा रही है।

अब भी नहीं हुई देर

फोर्ट फोलियो में कार्य करने वाले वे कर्मचारी जिन्होंने अभी तक इस तरह की अक्लमंदी का परिचय नहीं दिया है और नौकरी जाने के भय से दुखी है। आप लोगों के पास अब भी सुनहरा मौका है। आपकी ड्यूटी जहां भी है, वहां ड्यूटी करते हुए चुपचाप फोटो खींच लो और वीडियो बना लो। जिससे आप भी यह साबित कर सको कि हम पत्रिका में ही कार्य करते हैं।