राजस्थान पत्रिका में अंदरूनी कलह सामने आई, बैठक में भिड़े एचपी तिवाड़ी और बीआर सिंह

जयपुर। मजीठिया मामले में भले ही अखबार मालिकों ने चुप्पी साध रखी हो, लेकिन, इसे लेकर उनमें बेचैनी का माहौल है। अभी तक तो यह बैचेनी अंदरूनी तौर पर चल रही थी, तो ऐसा लग रहा था कि सब कुछ ठीक है। लेकिन, अब यह अंदरूनी कलह बाहर आने लग गई है। ताजा मामला राजस्थान पत्रिका के जयपुर कार्यालय का है। अभी कुछ दिनों पहले जयपुर कार्यालय में अखबार मालिक उच्चाधिकारियों के साथ मजीठिया मामले को लेकर बैठक कर रहे थे। इसमें मजीठिया के केस से कैसे बाहर आया जाए, जो कर्मचारी केस में नहीं गए हैं, उन्हें बिना दिए कैसे चुप रखा जाए, जैसे मुद्दों पर रायशुमारी हो रही थी। सभी अपने-अपने तरीके से सलाह दे रहे थे।
इसी दौरान कम्पनी के डायरेक्टर एचपी तिवाड़ी ने कहा कि कुछ कर्मचारियों को छंटनी के नाम पर हटा दो और जो बाकी बचे, उनकी सैलेरी बढ़ा दो। साथ ही जो कर्मचारी केस में हैं, उनका पूरा हिसाब कर उनसे पीछा छुड़ा लिया जाए। बस क्या था, इसी बात पर सर्कुलेशन के स्टेट हैड बीआर सिंह तैश में आ गए।
उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को हटाने से कुछ भी नहीं होगा। कर्मचारी की जगह कर्मचारी ही कार्य करेगा, अगर कर्मचारी नहीं होगा तो कार्य कौन करेगा। इसलिए आपका यह तर्क सही नहीं है। इस पर तिवाड़ी को भी गुस्सा आ गया और उन्होंने तैश में कहा कि मजीठिया तो कर्मचारियों को हर हाल में देना ही पड़ेगा।
इस बात पर भी दोनों में काफी देर तक हॉट-टॉक हुई। बैठक में मालिक भी बैठे हुए थे, उन्होंने बीआर सिंह को कुछ नहीं कहा। बल्कि एचपी तिवाड़ी को ही चुप रहने को कहा। इससे भी एचपी तिवाड़ी आहत हो गए। बीआर सिंह को नीहार कोठारी का खासमखास माना जाता है। इसी के चलते बीआर सिंह बिना किसी डर के कम्पनी के डायरेक्टर से खुलेआम भिड़ गए।



Public Speak

  • Sunit Aron | 28 Jun 2016

    मन्दिर कार्यकारिणी अध्यक्ष नरेन्द्र जैन ने बताया कि कार्यक्रम में मंगलवार सुबह 6.45 बजे अभिषेक पूजन, 7.45 बजे निर्वाण लाडू अर्पण, साढ़े नौ बजे ध्वजारोहण, धर्मसभा तथा जैन मुनि के मंगल प्रवचन होंगे। इसके बाद सुबह 11.30 बजे बैंड बाजों व झांकियों के साथ श्रीजी की रथयात्रा निकाली जाएगी। शाम 6.45 बजे मंगल आरती का आयोजन होगा।